Latest news

पूरे भारत के पाठ्यक्रम में होगा बढ़ा बदलाव, शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट कर मांगी राय

पूरे भारत के पाठ्यक्रम में होगा बढ़ा बदलाव, शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट कर मांगी राय

 

 

– सरकार ने लोगों से पूछा कि पाठ्यपुस्तकों के सिलेबस में क्या बदलाव हो

 

 

शिक्षा फोकस, दिल्ली। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत शिक्षा मंत्रालय नेशनल कैरिकुलम फ्रेमवर्क (एनसीएफ) डेवलप पर काम कर रहा है। इसके तहत सरकार स्कूलों और कॉलेजों में पढ़ाए जाने वाले पाठ्यक्रम में बदलाव की योजना बना रही है। इसे लेकर मंत्रालयों और अन्य विशेषज्ञों के बीच चर्चा चल रही है जबकि लोगों से भी फीडबैक मांगा जा रहा है। सरकार ने पूछा है कि पाठ्यपुस्तकों में क्या शामिल किया जाना चाहिए।

शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ट्विटर पर कहा कि वैश्विक दृष्टिकोण के साथ सांस्कृतिक जड़ों को एकीकृत करने, औपनिवेशिक हैंगओवर से मुक्त होने और देश के प्रति गर्व की गहरी भावना पैदा करने के लिए एक जीवंत, गतिशील, समावेशी और भविष्योन्मुखी नेशनल कैरिकुलम फ्रेमवर्क की आवश्यकता है। उन्होंने कहा, सभी नागरिकों से अपील है कि #NayeBharatKaNayaCurriculum विकसित करने के लिए एनसीएफ के सर्वे में हिस्सा लें।

हाल ही में शिक्षा मंत्रालय ने एनसीईआरटी, भारत निर्वाचन आयोग, आईसीएआर और डीआरडीओ के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की थी। यह बैठक नए एनसीएफ के लिए हुई थी। इसमें तेजी से बदलती तकनीक, इनोवेशन की आवश्यकता, नए विचारों के सृजन, जलवायु परिवर्तन जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा की गई थी।

 

 

इस लिंक पर जाकर दें सुझाव

एनसीएफ पर आप भी यदि सुझाव देना चाहते हैं तो अपने सुझाव ऑनलाइन सबमिट कर सकते हैं। शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने इसके लिए एक लिंक- https://ncfsurvey.ncert.gov.in/#/ जारी किया है।

 

 

700 से अधिक विशेज्ञों का समूह कर रहा एनसीएफ पर काम

एनसीएफ का क्या हिस्सा हो सकता है और क्या नहीं, यह तय करने के लिए राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 700 से अधिक राज्य-स्तरीय विशेषज्ञ समूह और क्रास कटिंग थीम बनाए गए हैं। इसके अलावा, राष्ट्रीय स्तर के 25 विशेषज्ञों का एक समूह भी बनाया गया है, इसमें अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ भी शामिल हैं। एकत्र किए जा रहे इनपुट का विश्लेषण किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: