Latest news

नीट परीक्षा के दौरान छात्राओं के इनरवियर उतरवाने पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

नीट परीक्षा के दौरान छात्राओं के इनरवियर उतरवाने पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

 

 

– एग्जाम देने पहुंची छात्राओं के अंडरगारमेंट्स (अंतर्वस्त्र) उतरवाए

नीट परीक्षा के दौरान छात्राओं के इनरवियर उतरवाने पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

शिक्षा फोकस, कोल्लम। केरल के कोल्लम जिले में मेडिकल प्रवेश परीक्षा NEET का एग्जाम देने पहुंची छात्राओं के अंडरगारमेंट्स (अंतर्वस्त्र) उतरवाए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले में केरल पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि परीक्षा देने पहुंची छात्राओं की चेकिंग के दौरान इनरवीयर में लगे हुक की वजह से मेटल डिटेक्टर की बीप बज रही थी, जिसके बाद अंडरगारमेंट्स (अंतर्वस्त्र) उतरवाए गए थे।

छात्रा द्वारा पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के बाद पुलिस ने आईपीसी की धारा 354 और धारा 509 के तहत मामला दर्ज किया है। केंद्र अधीक्षक और स्वतंत्र पर्यवेक्षक के साथ-साथ कोल्लम जिले के समन्वयक ने कहा है कि एनईईटी परीक्षा केंद्र में ऐसी कोई घटना नहीं हुई है।

 

छात्रा की पिता के शिकायत के बाद मामला सामने आया

बता दे कि परीक्षा देने गई एक छात्रा के पिता ने इस मामले की शिकायत पुलिस से की थी। उसके बाद यह मामला सामने आया था। लगभग 90 फीसद छात्राओं को इस समस्या से दो चार होना पड़ा था। छात्राओं का आरोप था कि जब वह परीक्षा देकर बाहर निकलीं, तो उन्होंने देखा कि सबके अंडरगारमेंट्स एक ही डिब्बे में रखे हुए थे। इस घटना के बाद छात्राओं ने खुद को प्रताड़ित महसूस किया था। हालांकि, मार्थोमा इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ने इस घटना से इनकार किया है। फिलहाल पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

 

परीक्षा गाइडलाइन में अंडरगारमेंट्स का जिक्र नहीं

परीक्षा नियम के अनुसार, एग्जाम हॉल में कोई भी छात्र-छात्रा किसी तरह का कोई धातु की वस्तु या सामान नहीं पहन सकते हैं। इसके पीछे मुख्य मकसद परीक्षा में किसी भी तरह की धोखाधड़ी को रोकना है। एडवाइजरी में बेल्ट का जिक्र तो है, पर अंडरगारमेंट्स जैसी चीजों का जिक्र नहीं है।

 

केरल की उच्च शिक्षा मंत्री ने नाराजगी जताई

केरल की उच्च शिक्षा मंत्री आर बिंदू ने कहा कि घटना को लेकर नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) से शिकायत करेंगे। मंत्री ने कहा कि ऐसी घटना बर्दाश्त नहीं करेंगे। उच्च शिक्षा मंत्री कहा कि ऐसी घटना को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। हम एग्जाम सेंटर और नेशनल टेस्टिंग एजेंसी से (NTA) से शिकायत करेंगे। NTA शैक्षणिक संस्थानों के लिए प्रवेश परीक्षा कराती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: