Latest news

सरकारी दफ्तर में हुआ यह काम तो मान लेगी अधिकारी को भ्रष्ट

सरकारी दफ्तर में हुआ यह काम तो मान लेगी अधिकारी को भ्रष्ट

 

 

 

– पंजाब में 200 से अधिक अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दर्ज करके उन्हें जेल भेजा – मुख्यमंत्री

 

 

शिक्षा फोकस, चंडीगढ़। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि राज्य में जो भी सरकारी अधिकारी अपने कार्यालय के बाहर मोबाइल फोन अंदर लाने पर रोक लगाने का बोर्ड लगाएगा, उसे सरकार स्वत: ही भ्रष्ट मान लेगी और उसके खिलाफ केस भी दर्ज किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री मान ने आज गुजरात दौरे के दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनते ही भ्रष्टाचार के खिलाफ हैल्पलाइन नंबर जारी किया गया था। अब तक पंजाब में 200 से अधिक अधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दर्ज करके उन्हें जेल की सलाखों के पीछे भेजा जा चुका है।

उन्होंने कहा कि कुछ अधिकारियों ने रिश्वतखोरी के खुलासे से बचने के लिए अपने कार्यालय के बाहर लिख कर लगा दिया था कि ‘कोई भी व्यक्ति सरकारी कार्यालय में अपना मोबाइल फोन लेकर नहीं आएगा’। तब सरकार ने एक आदेश जारी कर दिया कि जो भी ऐसा करेगा उसे सरकार भ्रष्ट मान लेगी। इसके बाद कई अधिकारियों ने इन बोर्डों को हटा दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रष्टाचार में चाहे कोई राजनेता संलिप्त हो या फिर अधिकारी उसे बख्शने का सवाल ही पैदा नहीं होता। उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार ने पिछले 7 महीनों के दौरान अपनी चुनावी गारंटियों को पूरा करने की दिशा में कदम बढ़ाए हैं। लोगों का बिजली बिल माफ किया गया है।

उन्होंने कहा कि राज्य में 50 लाख घरों का बिजली बिल माफ किया गया है। सॢदयों में इनकी गिनती और बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि इसी तरह से सरकार ने 5-5 पैंशनें लेने वाले विधायकों पर कैंची चलाते हुए अब उन्हें एक ही पैंशन देने का फैसला किया है। सरकार को पूरी तरह से पारदर्शी तरीके से चलाया जा रहा है और सरकार का पैसा व्यर्थ नहीं जाने दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात के लोग भी अब परिवर्तन चाहते हैं। गुजरात में कांग्रेस खत्म हो चुकी है। उसके पिछली बार 20 से 22 विधायक तो टूट कर भाजपा में शामिल हो गए थे। कांग्रेस पूरे देश में खत्म हो रही है क्योंकि यह पार्टी बदलाव नहीं ला सकती है बल्कि इसके विधायक तो चुनाव जीतने के बाद भाजपा में शामिल हो जाते हैं।

लोगों का दिल कांग्रेस ने तोड़ दिया है। उन्होंने कहा कि इस बार आम आदमी पार्टी के पक्ष में लहर दिखाई दे रही है। दिल्ली में पिछले 2 चुनावों में लगातार भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: