Latest news

सरकारी स्कूलों में ड्रेस सप्लाई के दौरान जीएसटी चोरी

सरकारी स्कूलों में ड्रेस सप्लाई के दौरान जीएसटी चोरी

 

 

– ड्रेस संचालक एक ही परिवार से हैं और दो अलग-अलग जीएसटी नंबरों से कर रहे थे कारोबार

 

 

शिक्षा फोकस, वाघमारा। धनबाद जिले के बाघमारा, तोपचांची और धनबाद प्रखंड के सरकारी स्कूलों में स्कूल ड्रेस, स्कूल किट आदि सप्लाई करने वाले दो प्रतिष्ठानों के खिलाफ लाखों का जुर्माना लगाया गया है।

आरोप है कि सप्लायर को सरकारी स्कूलों में ड्रेस सप्लाई करने का जिम्मा मिला तो उसने जीएसटी ही चोरी कर डाली। आरटीआइ कार्यकर्ता अरविंद सिन्हा की शिकायत पर यह मामला उजागर हुआ, तब जाकर विभाग ने कार्रवाई की है।

आरटीआइ में जानकारी दी गई है कि दोनों प्रतिष्ठान का संचालक एक ही परिवार से हैं और दो अलग-अलग जीएसटी नंबरों से कारोबार कर रहे थे। कर अधिकारी नजमुल ने बताया कि आरटीआइ कार्यकर्ता अरविन्द सिन्हा ने सर्वश्री अख्तर इंटरप्राइजेज और झारखंड इंटरप्राइजेज के विरुद्ध जीएसटी चोरी की लिखित शिकायत की थी, जिसके आलोक में कार्रवाई की गई है।

एक प्रतिष्ठान पर 31 लाख 18 हजार नौ 956 रुपये एवं दूसरे प्रतिष्ठान पर एक लाख 48 हजार 988 रुपये का जुर्माना तय किया गया है। इस मामले में पांच जनवरी 2021 को कर उपायुक्त कार्यालय, कतरास अँचल में शिकायत की गई थी।

कर अधिकारी नजमुल ने यह भी बताया कि सर्वश्री इंटरप्राइजेज की ओर से शॉर्ट पेमेंट ऑफ टैक्स किया गया है, जबकि झारखंड इंटरप्राइजेज का मामला अपीलीय न्यायालय में विचाराधीन है। यह सब जानकारी सूचना अधिकार के तहत भी दी गई है। दोनों ही एजेंसी होने बड़े स्तर पर स्कूलों में पोशाक सप्लाई की है।

आरटीआइ के तहत दी गई जानकारी के अनुसार दोनों का जीएसटी नंबर भले ही अलग-अलग है, लेकिन संचालक एक की है। यहां बता दें कि अरविंद सिन्हा पिछले वर्ष कतरास के लकड़का स्थित एक सरकारी स्कूल की सरकारी योजना में दो लाख 61 हजार का घोटाला उजागर करके चर्चा में आये थे। उस मामले में प्रधानाध्यापक सहित पूरे स्कूल प्रबंधन पर कार्रवाई हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: