Latest news

कच्चे अध्यापकों का सरकार से प्रश्नः सरकार बताए कि 6 हजार में घर का खर्च कैसे चलाएं

कच्चे अध्यापकों का सरकार से प्रश्नः सरकार बताए कि 6 हजार में घर का खर्च कैसे चलाएं

 

 

 

– सत्ता में आने से पहले कच्चे अध्यापकों से किये गए वायदे से हाथ खींच रही है सरकार – हरप्रीत कौर

 

 

 

शिक्षा फोकस, जालंधर। लंबे समय से महज 6 हजार रुपए का वेतन लेकर पक्के अध्यापकों के बराबर काम करने वाले कच्चे अध्यापकों ने सरकार पर वायदा खिलाफी करने के आरोप लगाए हैं। ऐआईई, ईजीएस तथा एसटीआर (कच्चे) अध्यापकों ने सरकार से प्रश्न करते हुए उन्हें मिलने वाले वेतन 6000 रुपए में घर चलाने का फार्मूला पूछा है। उक्त जत्थेबंदी की जिला जालंधर की प्रधान हरप्रीत कौर ने कहा कि सत्ता में आने से पहले पंजाब सरकार ने उन्हें पक्का करने का वायदा किया था।

मगर, सत्ता में आने के बाद भी उन्हें पक्का नहीं किया गया है औऱ न ही उनके वेतन में बढ़ोतरी की गई है। हरप्रीत कौर ने कहा कि सरकार उन्हें सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर कर रही है। सरकार को चेतावनी देते हुए जत्थेबंदी ने सरकार से चुनाव से पहले उनके साथ किए गए वायदे को पूरा करने के लिए कहा है।

हरप्रीत कौर ने कहा कि अगर सरकार ने उनके अधिकार उन्हें नहीं सौंपे तो वह संघर्ष का रास्ता अपनाएंगे। इसके लिए जत्थेबंदी ने उन्हें 5 नवंबर तक का समय दिया है। उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने इस तिथि तक अपने किये गए वायदे को पूरा न किया तो जत्थेबंदी 6 नवंबर को शिक्षा मंत्री बैंस की कोठी का घेराव करने के लिए मजबूर हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: