Latest news

दो जिलों में शिक्षा विभाग के पास नहीं है कोई “प्रमुख”

दो जिलों में शिक्षा विभाग के पास नहीं है कोई “प्रमुख”

 

– जालंधर व कपूरथला के प्राईमरी और सैकेंडरी विभाग में है लंबे समय से डीईओ के पद खाली

शिक्षा फोकस, जालंधर। शिक्षा विभाग को मीडिया का गढ़ कहे जाने वाले जालंधर में जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) के पद पर तैनात करने के लिए कोई योग्य अधिकारी ही नहीं मिल रहा है। जिले में लंबे समय दोनों विंग (प्राईमरी व सैकेंडरी) के पास अपना डीईओ नहीं है। यही कारण था कि जिले की बागडोर डिप्टी जिला शिक्षा अधिकारियों के पास रही है। सैकेंडरी विंग में डीईओ हरिन्दर पाल सिंह के सेवा मुक्त होने तथा प्राईमरी के डीईओ गुरभजन सिंह लासानी के सेवा मुक्त होने के बाद से ही दोनों दफ्तरों को वारिस की प्रतीक्षा रही है। ऐसा ही कुछ हाल कपूरथला का भी है। वहां भी दोनों विभाग दूसरे अधिकारियों के सुपुुर्द है।

जानकारी के मुताबिक जालंधर के दोनों विभागों की जिम्मेवारी होशियार के जिला शिक्षा अधिकारी सैकेंडरी (डीईओ) गुरशरण सिंह के कंंधों पर है तो कपूरथला जिले के दोनों विभागों की जिम्मेवारी तरनतारन के डीईओ के पास है।

हैरानी तो यह है कि विभाग के पास कई काबिल अधिकारी मौजूद हैं लेकिन पदोन्नति न होने के कारण जालंधर व कपूरथला को पक्के तौर पर कोई “प्रमुख” नहीं मिल रहा है। हालांकि मान सरकार शिक्षा तथा हेल्थ को गंभीरता से ले रही है मगर, पदोन्नतियां न होने के कारण राज्य में कई ऐसे स्कूल तथा दफ्तर हैं जो खाली हैं।

जालंधर में दोनों विभागों का काम डिप्टी डीईओ के सुपुर्द है। अब इनमें से बड़ी मेहनत तथा लगन के साथ सेवा देने वाले डिप्टी डीईओ गुरचरण सिंह के सेवा मुक्त होने पर प्राईमरी विंग पूरी तरह से खाली हो गया है। हालांकि सैकेंडरी विंग में राजीव जोशी बतौर डिप्टी डीईओ सेवाएं दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: