Latest news

नियमित अध्यापक न होने के कारण छात्रों ने कर दी भूख हड़ताल

नियमित अध्यापक न होने के कारण छात्रों ने कर दी भूख हड़ताल

– पंजाब यूनिवर्सिटी में बहुत सारी विभाग गेस्ट फैकल्टी के आधार पर ही चल रहे हैं – एबीवीपी

शिक्षा फोकस, चंडीगढ़। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। यूनिवर्सिटी इकाई अध्यक्ष अमित पुनिया व इकाई मंत्री शौर्य मेहरा ने संयुक्त बयान जारी करते हुए कहा की पिछले काफी समय से पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद छात्र हितों में अपनी 16 मांगों को लेकर संघर्षरत है। पंजाब यूनिवर्सिटी में बहुत सारी विभाग गेस्ट फैकल्टी के आधार पर ही चल रहे हैं, यूनिवर्सिटी के विभागों में नियमित अध्यापक न होने की वजह से शिक्षा के स्तर में गिरावट आ रही है।

वहीं अगर बात करें तो यूनिवर्सिटी की सर्वोच्च संस्था सीनेट और सिंडिकेट की तो जिस तरह उनकी बैठकों में हर वर्ष 5 से 7% वृद्धि करने के छात्र विरोधी निर्णय लिए जा रहे हैं, यह निर्णय गरीब छात्रों को शिक्षा से दूर करने वाले निर्णय है। आज यूनिवर्सिटी में चाहे सुरक्षा का मुद्दा हो, साउथ कैंपस में स्टेशनरी, कैंटीन और ई-रिक्शा की सुविधा की बात करें तो प्रशासन छात्रों को यह सुविधाएं मुहैया करवाने में नाकामयाब रहा है। ऐसी 16 मांगों को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता आज यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट सेंटर पर भूख हड़ताल पर बैठे हैं।

एबीवीपी की 16 मांगे इस प्रकार हैं:

1. साउथ कैंपस में सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत किया जाए।

2. पंजाब यूनिवर्सिटी के साउथ कैंपस में छात्रों के लिए डिस्पेंसरी, स्टेशनरी और टक शॉप आदि जैसी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराएं|

3. परिसर में ई-रिक्शा की सुविधा में वृद्धि और शटल बस सेवाओं की बहाली।

4. यूनिवर्सिटी के शोधार्थियों के लिए पुस्तकालय में एक अलग अनुभाग उपलब्ध कराया जाए।

5. परिसर में नए छात्रावास स्थापित करने की प्रक्रिया जल्द से जल्द शुरू करें।

6. छात्रावासों में भोजन की गुणवत्ता बढ़ाई जानी चाहिए और सभी छात्रावासों एवं कैंटीनों में अनुमोदित मेनू दरों को प्रदर्शित किया जाना चाहिए।

7. विकलांग छात्रों के लिए परिसर को सामाजिक रूप से संवेदनशील और संरचनात्मक रूप से सुलभ बनाना।

8. विज्ञान के विभिन्न विभागों के छात्रों और शोधकर्ताओं को अत्याधुनिक सामग्री के साथ आवश्यक प्रयोगशाला उपकरण/सुविधाएं उपलब्ध कराना।

9. बिना किसी देरी के महिला छात्रों के लिए GH-11 खोलें और आवंटित करें।

10. बीएएमएस ब्लॉक में जल्द से जल्द कैंटीन की सुविधा सुनिश्चित करें।

11. छात्रों के लिए जल्द से जल्द गुरु तेग बहादुर पुस्तकालय खोलना।

12. यूनिवर्सिटी में शुल्क वृद्धि को वापस लेना और किश्तों में शुल्क का भुगतान करने का प्रावधान जोड़ना।

13. यूनिवर्सिटी में प्राध्यापकों के रिक्त पदों को शीघ्र भरा जाए।

14. पीयू पीएचडी प्रवेश के माध्यम से यूनिवर्सिटी में नामांकित सभी शोधार्थियों को फेलोशिप प्रदान करें।

15. छात्र केंद्र कॉफी हाउस जल्द शुरू किया जाए।

16. खिलाड़ियों के दैनिक भत्ते में वृद्धि की जानी चाहिए।

आज की इस भूख हड़ताल में कुल 23 कार्यकर्ता हड़ताल पर बैठे हैं। जिनके नाम इस प्रकार हैं: शौर्य मेहरा, अजय सूद, वागीश, इशिता, सृष्टि, साक्षी, दिशा, सिमरन, अभिषेक कपूर, परविंदर नेगी, विश्वजीत, आयुष, परमवीर, रजत पूरी, अभिषेक शुक्ला, वीरेन, सक्षम शर्मा, हितेश, निखिल शर्मा, सौरभ, देव, किरण। एबीवीपी प्रशासन को चेतावनी देती है की यदि शीघ्र छात्रों की मांगों को पूरा नहीं किया गया तो आने वाले समय में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अपने आंदोलन को और तेज करेगी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद छात्रों को सस्ती व गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा मुहैया उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: