Latest news

शिक्षकों की बड़ी लापरवाही, बच्ची को स्कूल में बंद करके चले गए शिक्षक

शिक्षकों की बड़ी लापरवाही, बच्ची को स्कूल में बंद करके चले गए शिक्षक

– 18 घंटे से बेटी की तलाश कर रहे अभिभावक भी पहुंचे स्कूल, हंगामा

शिक्षा फोकस, सम्भल। उत्तर प्रदेश के सम्भल जिले में शिक्षकों की बड़ी लापरवाही सामने आई है। जिले के धनारी थानाक्षेत्र के ग्राम धनारी बालू शंकर पट्टी के सरकारी स्कूल का स्टाफ मंगलवार को छुट्टी होने पर कमरे बंद करके घर चला गया। लेकिन, पहली कक्षा की एक छात्रा कमरे में ही रह गई।

पूरी रात छटपटाती रही छात्रा

पूरी रात बच्ची छटपटाती रही लेकिन उसकी चीख किसी ने नहींं सुनी। बुधवार की सुबह 8ः30 बजे जब शिक्षकों ने स्कूल खोला तो मासूम की चीख फिर गूंजी। इस बीच 18 घंटे से बेटी की तलाश कर रहे अभिभावक भी पहुंच गए। स्कूल में हंगामा मच गया। बाद में अध्यापकों ने माफी मांगी तो मामला सुबह शांत हो गया।

अभिभावक पुलिस कार्रवाई के लिए नहीं आए आगे

दोपहर बाद यह प्रकरण प्रशासनिक अफसरों के सामने आया तो बीईओ खंड शिक्षा अधिकारी पोप सिंह ने स्कूल का निरीक्षण किया और बीएसए को अपनी रिपोर्ट दी। अभिभावक किसी भी प्रकार की पुलिस कार्रवाई नहीं करना चाहते। उन्होंने अभी तक पुलिस को तहरीर नहीं दी है।

नाना-नानी के घर रहती है बच्ची

धनारी क्षेत्र के गांव धनारी बालूशंकर पट्टी में स्थित प्राथमिक विद्यालय में कक्षा एक में पढ़ने वाली छात्रा अंशिका पुत्री ज्ञानसिंह अपने ननिहाल में रहकर शिक्षा ग्रहण कर रही है। मंगलवार को छात्रा स्कूल की छुट्टी के बाद घर नहीं पहुंची। छात्रा के घर न पहुंचने पर स्वजनों को चिंता हुई।

वह स्कूल पहुंचे तो वहां ताला लगा मिला। छात्रा को गांव के समीप जंगल में खोजते रहे। बुधवार की सुबह जब स्कूल परिसर का ताला खोला गया तो छात्रा कक्ष संख्या एक में बंद मिली। बच्चों ने स्वजनों को सूचना दी तब तक स्वजन पहुंच चुके थे। छात्रा को लेकर घर गये।

छात्रा के कमरे में रात भर बंद रहने की खबर ग्रामीणों को पता चली तो भारी संख्या में ग्रामीण स्कूल परिसर में एकत्रित हो गये। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे खंड शिक्षाधिकारी पोप सिंह पहुंचे और जांच की। उन्होंने मामले की जांचकर कार्रवाई की बात कही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: